You are here
डिसनीलैंड के मालिक वाल्ट डिज्नी का जीवन परिचय WALT DISNEY Biography 

डिसनीलैंड के मालिक वाल्ट डिज्नी का जीवन परिचय, Walt Disney Biography in Hindi

“डिसनीलैंड के मालिक वाल्ट डिज्नी का जीवन परिचय”, वाल्ट डिज्नी का सफर उन नौजवानों को जरूर सुनना चाहिए जिन्होंने हाल ही में अपना सफर शुरू किया है। वाल्ट डिज्नी से तो आपकी शुरुआत अच्छी ही होगी पर क्या आप उसकी तरह कामयाब हो पाएंगे? उसके लिए आपको, आप ने जिस काम की शुरुआत की है उस पर डटे रहना पड़ेगा, और किस तरह से डटे रहना है? वो आपको वाल्ट डिज्नी से सीखना चाहिए क्योकि वाल्ट डिज्नी की कामयाबी का सफ़र कभी भी आसान नहीं रहा और इस दौरान उन्हें कई कठिनाईयों और असफलताओ का सामना करना पड़ा था।

 

डिसनीलैंड के मालिक वाल्ट डिज्नी का जीवन परिचय WALT DISNEY

 

जब प्रथम विश्वयुद्ध हुआ तब वाल्ट डिज्नी वहां पर एक स्वयं सेवक का काम कर रहे थे, जब स्वयं सेवक की सेवा करके लौटे तो अपने भविष्य के बारे में सोचने के लिए उनके पास काफी समय था और वो कार्टून मोशन पिक्चर बनाना चाहते थे।

शुरुआत में वाल्ट की रूचि कला में थी, वो अपने पड़ोसियों को अपनी ड्राइंग बना कर बेचा करते थे और उन्होंने कला में ही अपना करियर बनाने को भी सोचा था। उसके लिए वो शिकागो गए और शिकागो की डिज्नी सेना में भर्ती होना चाहते थे लेकिन कम उम्र के कारण उसको सेना में भर्ती होने से मना कर दिया गया। इसलिए वो “वाल्ट रेड क्रोस” में शामिल हो गए।

साल 1920 में उन्होंने केवल 19 साल की उम्र में अपनी कंपनी बनाई। वह बचपन से ही जीवो के कार्टून बनाया करते थे। बुरी बात यह थी की उसके पास किराया चुकाने के भी पैसे नहीं थे और कई बार वे भूखे सो जाते थे। उन्होंने कार्टून बनाने शुरू तो कर दिए थे पर वह एक भी कार्टून बेचने में कामयाब नहीं हो पाए।

केंसास शहर में अपनी कार्टून सीरीज के बुरी तरह असफल हो जाने के कारण वो कंगाल हो गए और एक बार उन्हें एक समाचार संवाददाता ने यह कहकर निकाल दिया कि “आपमें कल्पनात्मक और सर्जनात्मक विचारो की कमी है।”

 

वाल्ट डिज्नी दिवालिये हो गए

 

वो कई बार दिवालिये हो गए, उसका दूसरा सपना ये था कि वें हॉलीवुड एक्टर भी बनना चाहते थे पर ऐसा ना हो पाया। कुछ साल बाद उन्होंने हॉलीवुड के लिए केंसास शहर को छोड़ दिया ताकि वह अपने बचपन के सपने को पूरा कर सके। वहा से निकालकर उन्होंने फिर से एक स्टूडियो खोला और काम करना शुरू किया।

कुछ समय बाद छोटी एनीमेशन “ऐलिस इन कार्टूनलैंड” और “ओसवाल्ड दी रैबीट” नाम की कार्टून क्लिप बनाई, जिसमे थोड़ी बहुत कामयाबी हाथ लगी, लेकिन ये ज्यादा दिनों तक कायम ना रह सकी।

उसके बाद उन्होंने कई बिजनेस शुरू किये लेकिन सभी असफल हो गए और बुरी तरह से कंगाल हो गए। पर उन्होंने फिर भी वोही काम किया क्योकि वें बड़ी कामयाबी हासिल करना चाहते थे इसलिए अपने सृजनात्मक विचारो का प्रयोग करना उन्होंने नहीं छोड़ा।

साल 1940 में उन्होंने एक मनोरंजन पार्क बनाने का विचार विकसित किया जहा पार्क के कर्मचारी अपने बच्चो और परिवार के साथ समय बिता सके। “चिल्ड्रन फैरयलैंड” की अपनी यात्रा के दौरान काफी लोगो ने उनके इस विचार में योगदान दिया। उन्होंने इस विचार की रूपरेखा दुसरो के सामने प्रस्तुत की और इसे बनाने में दिन रात एक कर दिए और साल 1955 में एक लाइव टीवी कार्यकर्म के दौरान उन्होंने अपने नए बनाये “डिसनीलैंड” को इस आशा के साथ शुरू किया कि यह लोगो के लिए आनंद और प्रेरणा का स्त्रोत बनेगा। 

शुरुआत हुई, और धीरे धीरे वो पार्क वहा के लोगो के लिए सबसे लोकप्रिय पार्क बन गया, पर वें यही नहीं रुके। उसके बाद उन्होंने “वाटर पार्क” “मोशन पिक्चर” और “रिसॉर्ट्स” बनाये। 

 

सफलता

 

वाल्ट डिज्नी की असफलताओ की कहानी बहुत लम्बी है, ऐसा माना जाता है की वो 300 से अधिक बार असफल हुए लेकिन उन्होंने अपनी असफलताओ से हार न मानते हुए एक अलग ही इतिहास लिख दिया। 

“डिसनीलैंड” के जरिये वें अमेरिकन फिल्म निर्देशक, निर्माता और कार्टून बनाने वाले दिग्दर्शक बने। उन्होंने दुनिया को कुछ मजेदार कार्टून दिए। जिसमे सबसे लोकप्रिय “मिक्की माउस” का कार्टून था और वाल्ट डिज्नी को इसी कार्टून की वजह से अपनी पहली सफलता मिली थी।

आज उनकी “वाल्ट डिज्नी” कम्पनी का कारोबार कुछ 35 अरब अमेरिका डॉलर के बराबर है। आज वें खुद कहते है की “जीवन की कठिनाइयों ने मुझे मजबूती प्रदान की।” अपने बचपन के सपनो को सजाकर उन्होंने “डिज्नीलैंड” पार्क बनाया जो आनंद का प्रतीक बन गया।

आपका अभिप्राय जरूर दीजिये!

जय हिन्द!

Related posts

One thought on “डिसनीलैंड के मालिक वाल्ट डिज्नी का जीवन परिचय, Walt Disney Biography in Hindi

Leave a Comment

0 Shares
Share
+1
Tweet
Share
Pin
Stumble