You are here
DON'T QUIT Hindi Public Motivational Story Motivational Story 

छोड़ो मत, खेलते रहो, DON’T QUIT Hindi Public Motivational Story

“Hindi Public Motivational Story”,”कुछ नया” यह शब्द एक ऐसा पॉइंट है जहा से हम दो जिंदगी एकसाथ देख सकते है। पीछे हम अपनी बीती हुई जिंदगी देख सकते है और आगे हम नयी जिंदगी के बारे में कुछ अलग सोच सकते है। आपने ठीक से सुना ना? हम नयी जिंदगी के बारे में कुछ अलग सोच सकते है पर जी नहीं सकते।

 नयी जिंदगी जीने के लिए हमें नयी सोच वाला जो रास्ता है उस पर चलना पड़ेगा तभी यह मुमकिन होगा। हमारा दिमांग हररोज कुछ न कुछ सोचता रहता है और कई बार हमें कुछ अच्छे रास्ते नजर आते है जहा से हम अपने आने वाला कल बदल सकते है पर फिर भी हम उस रास्ते पर नहीं चलते, क्यों? क्योकि हम डरते है कि अगर यह नहीं हुआ तो? या दुनिया का सबसे ख़राब विचार आसपास के लोग क्या कहेंगे? बस इसी की वजह से हम कुछ कर नहीं पाते और कुछ नया करते करते रह जाते है जो बड़े अफ़सोस की बात है।

छोड़ो मत, खेलते रहो, DON’T QUIT Hindi Public Motivational Story

एक छोटी सी लड़की जिसे पियानो बजाना बहुत ही पसंद था पर परिवार में कोई भी सदस्य इस बात पर ध्यान नहीं दे रहा था। लड़की को जब भी मौका मिलता था तब वो पियानो बजाने लगती थी फिर चाहे वो कही पर भी क्यों न हो। एक दिन उसकी माँ ने उसे यह करते हुए देख लिया और उसके बाद वो उस लड़की को प्रोत्साहित लगी।

 कुछ दिनों बाद पास में कही पियानो संगीत कार्यक्रम था, जब यह बात उसकी माँ को पता चली तो वो अपनी  बेटी को लेकर वहा गई ताकि उसकी बेटी कुछ सिख सके। बड़े से हॉल में कार्यक्रम था और काफी लोग आए हुए थे। लड़की और उसकी माँ दोनों अपनी सीट पर बैठ गई और कार्यक्रम शुरू होने का इंतजार करने लगे।

अचानक उसकी माँ ने किसी पहचान वालो को देखा और वो उसे मिलने के लिए चली गई। लड़की बैठे बैठे हॉल की भव्यता देख रही थी और अपनी जगह से खड़े होकर वो भी इधर उधर घूमने लगी। घूमते घूमते वो एक दरवाजे पर पहुची जहा पर पहले से ही एक पर्दा लगा हुआ था जिस पर लिखा था प्रवेश रद्द, वहा सिर्फ बहार से आए हुए मेहमान ही जा सकते थे पर लड़की ने वो कुछ देखा नहीं ऒर परदे के पीछे क्या है वो देखने के लिए वो अंदर चली गई।

 

Motivational Story

निचे लोग इधर उधर घूम रहे थे और स्टेज पर से आवाज आई कि कृपया सब अपनी सीट पर बैठ जाये। लड़की को पता नहीं था की वो कहा पर है, क्योकि आसपास में अँधेरा था। उसने नजदीक में एक सीट देखि और बैठ गई और सामने बड़ा सा पियानो था जिसे देखकर लड़की ने कार्यक्रम शुरू होने से पहले ही पियानो बजाना शुरू कर दिया और पियानो की आवाज सुनकर सारी लाइट एकसाथ शुरू हो गई और पर्दा भी जल्दी से हटा लिया गया।

छोटी सी लड़की अपनी धूम में पियानो बजा रही थी और “ट्विंकल ट्विंकल लिटल स्टार” वाला गाना गा रही थी। लाइट शुरू होने की वजह से स्टेज के निचे पब्लिक दिखने लगी जिसे देखकर ये लड़की गभराने लगी और वो डर गई।

पियानो वादक ने जब यह आवाज सुनी तो वो दौड़ता हुआ स्टेज पर आया कि मेरी जगह पर बैठकर पियानो कौन बजने लगा है?  जब वो स्टेज पर आया तो छोटी सी लड़की पियानो बजाते हुए गा रही थी और निचे बैठी पब्लिक उसका साथ दे रही थी। पियानोवादक जल्दी से लड़की के पास आया और उसके कान में फुसफुसाया कि “छोड़ो मत, खेलते रहो।”

 

Motivational Story

पियानोवादक निचे जुके और एक हाथ से बास (bass) और दूसरे हाथ से ऑब्लीगेटो (obbligato) बजाने लगे।अब लड़की को हौसला मिला और ऊपर से पियानोवादक का साथ। लड़की ने भी अपनी आवाज को दुगना किया और छोटे छोटे हाथो से पियानो का संगीत पूरी महफ़िल में गूंजने लगा और उसके साथ ही पूरा हॉल रंगों से भर गया और निचे बैठे लोग बिना कोई आवाज किये चुपचाप उस लड़की को पियानो बजाते हुए सुनने लगे।

अगर आपने ठीक से समझा है तो पता चला होगा कि जो लोग शुरुआत करते है उसे मौका भी जरूर मिलता है।हमेशा याद रखिये जो लोग सिर्फ एक बार उस नए काम की शुरुआत कर देते है वे एक न एक दिन अपनी मंजिल पर जरूर पहुचते है।

 

अगर आपको यह कहानी पसंद आई हो तो कमेंट करना न भूले, हम आपकी कमेंट का इंतजार कर रहे है।

जय हिन्द!

Related posts

Leave a Comment

0 Shares
Share
+1
Tweet
Share
Pin
Stumble