You are here
William Waldorf Astor True Story True Story 

रात को क्लर्क और सुबह होते ही मेनेजर, William Waldorf Astor True Story

यह एक सच्ची कहानी है। तूफानी रात में अमरीका के फिलाडेल्फिया शहर में एक बुजुर्ग आदमी और उनकी पत्नी दोनों एक छोटी सी होटल के अंदर आये। बहार बहुत तेज बारिश हो रही थी इसीलिए ठण्ड और बारिश से बचने के लिए।

वे दोनों इस उम्मीद के साथ अंदर आये कि एक रात बिताने के लिए यहां पर एक रूम तो मिल ही जायेगा। उन्होंने डेस्क पर होटल के एक क्लर्क को देखा और पास जाकर उस बुजुर्ग पति ने पूछा कि “क्या एक रात के लिए हमें एक रूम मिल सकता है?”

क्लर्क मुस्कुरा रहा था और उसने बताया कि “आज शहर में तीन बड़े बड़े सम्मलेन थे, जिस वजह से होटल के सारे कमरे बुक हो चुके है।”

पर क्लर्क ने मना नहीं किया और आगे बताया कि “पर में आप दोनों की इस खूबसूरत जोड़ी को इस तूफानी रात में बहार नहीं जाने दूंगा। शायद आप मेरे कमरे में रहने के लिए राजी हो जाये तो, वैसे कमर इतना अच्छा नहीं है पर आप एक रात आराम से रह सकते है।”

दोनों पति पत्नी इस बारे में सोच रहे थे यह देखकर क्लर्क ने आश्वाशन देते हुए कहा कि “आप मेरे बारे में ज्यादा चिंता न करे और में उस कमरे को अभी ठीक कर देता हु आपके लिए।”

वे दोनों ने भी क्लर्क की बात मानली और उसके साथ सहमत हुए। फिर दोनों ने सुबह तक उस रूम में आराम किया।

यह प्रेणनादायक कहानिया भी जरूर पढ़े

अगली सुबह दोनों डेस्क पर उस क्लर्क को बिल चूका रहे थे उस वक्त उसके पति ने क्लर्क से कहा कि “आप क्लर्क क्यों है? बल्कि आपको तो एक अच्छी होटल के मालिक होना चाहिए था। शायद एक दिन में तुम्हारे लिए ऐसी होटल बनाऊंगा।” उन्होंने हस्ते हुए बताया।

ये बात सुनकर क्लर्क के साथ वे दोनों भी मुस्कुरा रहे थे, फिर वे बहार की ओर चले गए और रास्ते में उसने अपनी पत्नी को कहा कि “यह क्लर्क बहुत ही मददगार और दोस्ताना स्वभाव का है और आज के समय के ऐसे लोगो को खोजना आसान नहीं है।”

फिर कुछ दो साल बीत गए थे और क्लर्क इस घटना को लगभग भूल चूका था। अचानक एक दिन उसे एक पत्र मिला जिसमे वो तूफानी रात के बारे में लिखा था और उसके साथ लिखा था कि न्यूयॉर्क शहर में एक ट्रिप हो रही है, अगर आप हमारे साथ आओगे तो हमें उस रात का भुगतान करने का मौका मिल जायेगा।”

क्लर्क ने याद किया उस बुजुर्ग पति-पत्नी को और उसे मिलने के लिए वो न्यूयॉर्क की तरफ रवाना हुए। दोनों की मुलाकात हुई और वो बुजुर्ग युवा क्लर्क को लेकर एक जगह पर गए, जहा सामने आसमान को चु ले इतनी ऊँची बिल्डिंग थी जो पिले पथ्थरो की बनी हुई थी।

“बस यही है,” उस बुजुर्ग आदमी कह रहे थे और उन्होंने आगे भी कहा कि “आपको इस होटल को संभलकर चलाना है और यह खास आप ही के लिए बनाई गई है।”

“आप अच्छा मजाक कर लेते है।” उस युवा क्लर्क ने कहा।

यह प्रेणनादायक कहानिया भी जरूर पढ़े

इंसान दिमांग से कमजोर होता है

बम ब्लास्ट में बच गई तो जीना सिख गई

बस एक घंटा और जिंदगी बदल जाएगी

फिर भी दुनिया उस इंसान को भूल गई

“मैं आपको आश्वासन दे रहा हु कि मैं मजाक नहीं कर रहा, यह बिलकुल सच है।” वो बुजुर्ग थोड़े नजदीक जाकर क्लर्क को समजाने की कोशिश कर रहे थे।

यह बुजुर्ग आदमी कोई मामूली इंसान नहीं था, इनका नाम विलियम वाल्डोर्फ एस्टर था, जो अमरीका का एक बहुत ही धनि परिवार है। दोनों के सामने जो होटल था वो शानदार वाल्डोर्फ एस्टोरिया होटल था। वो क्लर्क इस होटल के पहले मेनेजर बने जिसका नाम जॉर्ज बोल्ड्ट था।

एक छोटी सी घटना की वजह से उन्होंने कभी सोचा भी नहीं था कि दुनिया की सबसे बड़ी शाही होटलो में से एक वाल्डोर्फ एस्टोरिया के पहले मेनेजर बनेगे, पर वो बने, जिसका कारण था वो अंधेरी रात।

 

आपका अभिप्राय जरूर दीजिये!

जय हिन्द!

Related posts

Leave a Comment

8 Shares
Share7
+11
Tweet
Share
Pin
Stumble